Saturday, August 3, 2013

Hum Bhaartiye hain

Dariya se tairkar nikle hain
behna jante hain

nange paon, tapti ret mein
daudna jante hai

rukhi si roti aur, namak chawal
kha kar rahe hain

yeh malal nahi ki kami hai
yeh hausla hai, ke pure honge!

yeh sawal nahi ki kab hoga
yeh jawab hai, ki sabse aage honge!

yeh chaand hi nahi,
mangal bhi paa lenge!

jo kadam ek baar utha diye,
to sitare bhi la lenge!

Jazbaati bhi hain, bebaak bhi
mohabbat bhi hai, aur ikhlaaq bhi!

sharm bhi hai, adaa bhi,
gurur bhi hai, umang bhi.

na the kabhi kisi se kam
na honge kabhi kisi se!

na maanga hai kisi se
na maangenge kabhi kisi se!

Jo keh diya ek baar
woh karte hain!

baaton pe jeete hain
rishton mein rehte hain!

Hum Bhartiye hain,
Bhaarat mein the
Bhaarat mein hain
Aur Bhaarat mein hi rahenge!!

Hum Bhaartiye hain
Bhaarat mein the
Bhaarat mein hain
Aur Bhaarat mein hi rahenge!!

`````````````````````````````````````````````````````
हिंदी fonts में !!

दर्या से तैरकर निकलें हैं
बेहना जानते हैं

नंगे पाँव, तपती रेत में
दौड़ना जानते हैं

रुखी सी रोटी और नमक चावल
खा कर रहे हैं

यह मलाल नहीं की कमी है
यह हौसला है के, पूरे  होंगे

यह सवाल नहीं की कब होगा
यह जवाब है, के सबसे आगे होंगे

यह चाँद ही नहीं,
मंगल भी पा लेंगे

जो कदम एक बार उठा दिए
तो सितारे भी ला लेंगे

शर्म भी है, अदा भी
गुरुर भी है उमंग भी

जज्बाती भी हैं, बेबाक भी
मोहब्बत भी है, इखलाक भी

ना  थे कभी किसी से कम
ना  होंगे कभी किसी से

ना माँगा है किसी से
ना मांगेगे कभी किसी से

जो कह दिया एक बार
वह करते हैं

बातों में जीते हैं
रिश्तों में रहते हैं

हम भारतीय हैं
भारत में थे
भारत में हैं
और भारत में ही रहेंगे !!!

हम भारतीय हैं
भारत में थे
भारत में हैं
और भारत में ही रहेंगे !!!



Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...